Bageshwar-news

युवाओं को नशा मुक्त जीवन और देश सेवा से जोड़ रहे पूर्व कैप्टन नारायण सिंह उन्यूड़ी

कहते हैं कि, फौंजी कभी रिटायर नहीं होता है, चाहे वो ऑन ड्यूटी हो या ऑफ ड्यूटी। उत्तराखंड में ऐसे कई पूर्व फौंजी हैं जो रिटायरमेंट के बाद समाज की तस्वीर बदलने में जुटे पड़े हैं और इनकी मेहनत के अच्छे नतीजे भी सामने आने लगे हैं। इन्हीं में से हैं बागेश्वर जिले के रूनीखेत निवासी पूर्व कैप्टन नारायण सिंह उन्यूड़ी। जिनकी तीन साल की मेहनत से 17 युवा फौंज में भर्ती हो चुके हैं। कैप्टन के कदम अभी थमे नहीं हैं उनका मुकाम नशे की गिरफत से युवाओं को मुक्त करा उन्हें देश सेवा से जोड़ना है।

उत्तराखंड के लोगों में देशसेवा का जज्बा कूट-कूटकर भरा है। पहाड़ के हर घर में फौजी हैं, और ये फौजी रिटायरमेंट के बाद भी देशकृसमाज के प्रति अपनी जिम्मेदारी बखूबी निभाते आ रहे हैं। वर्ष 2017 में 12 कुमाउं में तैनात सुबेदार मेजर नारायण सिंह को रिटायर के वक्त सेना ने ऑनरी कैप्टन की उपाधी से नवाजा। घर आने पर उन्होंने देखा कि गांव के ज्यादातर युवाकृबुजुर्ग नशे की गिरफ्त में हैं। इस पर उन्हें बहुत पीड़ा पहुंची तो उन्होंने युवाओं को देश सेवा का जज्बा भरने के लिए गांव के ही एक युवक को लेकर ग्राम पंचायत खोली के तोक घाटबगड़ रुनीखेत मैदान में निरूशुल्क ट्रैनिंग देनी शुरू कर दी। उनके जज्बे को देख कुछ ही महीनों में हल्द्वानी, सोमेश्वर, चौंरा, कपकोट, दफौट के दूरस्थ क्षेत्रों से युवा उनके पास ट्रैनिंग के लिए आने शुरू हो गए। ट्रैनिंग में जरूरत के सामानों के लिए कैप्टन की मदद के लिए कुछेक लोगों ने मदद की तो मैदान में बारिश से बचने के लिए जिला पंचायत उपाध्यक्ष नवीन परिहार ने भी अपने खर्चे पर डेढ़ लाख रुपये से वहां एक व्यायामशाला बना दी।

भारतीय सेना में भर्ती होने के लिए जो मानक बने हैं उन सारे मानकों की वो निरूशुल्क ट्रैनिंग दे रहे हैं। सुबह पांच से सात बजे तक फिजिकल ट्रैनिंग के सांथ ही रिटर्न टैस्ट की भी ट्रैनिंग युवाओं को दी जा रही है। इसके सांथ ही हर रविवार को युवाओं की फिजिकल प्रोग्रस को आंका जाता है। विगत तीन सालों में उनसे ट्रैनिंग लिए 17 युवा स्पेशल फोर्स, लद्वाख स्कॉट, पैरा कंमाडो सहित अन्य बटालियनों में भर्ती हो चुके हैं।

इस मुहिम में कैप्टन नारायण सिंह अकेले नहीं हैं। उनके साथ प्रिंसिपल चंदन सिंह परिहार भी जुड़ गए हैं, जो कि ट्रैनिंग ले रहे युवाओं का लेखाकृजोखा रखने में मदद करते हैं। रूनीखेत मे चल रहे कैंप मे इस वक्त चालीस युवा निशुल्क ट्रेनिंग ले रहे हैं।

आज के वक्त में जब ज्यादातरों ने अपने हुनर को बिजनस बना लिया है वहीं कैप्टन नारायण सिंह रिटायर होने के बाद भी निस्वार्थ हो अपना कीमती वक्त युवा पीड़ी में देश सेवा का जज्बा भरने में जुटे पड़े हैं। देश सेवा के उनके जुनुन को युवा पीड़ी भी समझ उनके कदम से कदम मिला अपने भविष्य को संवारने में लगी है।

More from बागेश्वर्

कौसानी गवाह है गांधी की सोच को सरला बहन के कैसे किया साकार

केशव भट्ट (वरिष्ठ पत्रकार) जंगल में जानवरों को भेजने की जगह खेतों में चारा लगाओ। छोटे पेड़ बचाओ। पत्तियां न तोड़ो ,पेड़ों से प्रेम करो, प्रकृति की चाल के साथ चलो। पर्यावरण संरक्षण शब्द की रचियता और जिन्होंने अपना पूरा … अधिक पढ़े …

बागेश्वर की अर्चना ने सिखाया, आज के वक्त में कोई चीज बेकार नही

केशव भट्ट (वरिष्ठ पत्रकार) आज के वक्त में कोई भी चीज बेकार नहीं होती हैं, घर के पुराने वेस्ट मेटिरियल हों या पुराने अखबार। इनसे भी घर को नया लुक दिया जा सकता है, बशर्ते उसका बखूबी इस्तेमाल करने का … अधिक पढ़े …

टनकपुर-बागेश्वर रेल लाईन स्वीकृत करने का मुख्यमंत्री ने किया अनुरोध

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने नई दिल्ली में केन्द्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल से भेंट कर टनकपुर-बागेश्वर रेल लाईन की स्वीकृति वर्तमान वित्तीय वर्ष 2019-20 में करने का अनुरोध किया है। मुख्यमंत्री ने दिल्ली व हल्द्वानी के मध्य एक विशेष … अधिक पढ़े …

क्या सरकार और नुमाइंदे कर पायेंगे पंत की इच्छा पूरी!

उत्तराखंड के वित्त मंत्री प्रकाश पंत की मौत के साथ ही उनकी ये दिली इच्छा भी अधूरी रह गई। प्रकाश पंत उत्तराखंड के जागेश्वर और बागेश्वर को एक ट्रैक रूट में जोड़कर पांचवां धाम बनाने की ख्वाहिश रखते थे। वित्त … अधिक पढ़े …

नरेश बंसल ने की राज्य की जनता से शत प्रतिशत मतदान करने की अपील

भाजपा उत्तराखंड कार्यकारी अध्यक्ष नरेश बंसल ने प्रदेश की जनता से कल 100 % मत दान करने का आहवान किया है, उन्होंने कहा की मतदान लोकतंत्र मैं प्रत्येक व्यक्ति का अधिकार है, उसका प्रयोग करना चाहिए। 5 साल सोचने से … read more

कपकोट विधानसभा में 253 करोड के शिलान्यास और लोकार्पण

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने बागेश्वर के कपकोट विधानसभा क्षेत्र में कुल 253.30 करोड़ की 115 योजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास किया। जिसमें 69.58 करोड़ रूपये की 27 योजनाओं का लोकार्पण व 183.72 करोड़ रूपये की 88 योजनाओं का शिलान्यास … अधिक पढ़ें

आशा कार्यकत्रियों के मानदेय में 1000 रुपये की वृद्धि

आशा कार्यकत्रियों के मानदेय में एक हजार रूपये की वृद्धि की जायेगी। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत बागेश्वर ने गरूड़ में अटल आयुष्मान उत्तराखण्ड योजना के शुभारम्भ के अवसर पर यह घोषणा की। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश की आशा कार्यकत्रियों … आशा कार्यकर्ता, ₹1000 मानदेय बढ़ा, बागेश्वर, गरुड़, रेखा आर्य

‘मन की बात’ कार्यक्रम में उत्तराखंड के इस जिले की हुयी प्रशंसा

पीएम नरेन्द्र मोदी के लोकप्रिय कार्यक्रम मन की बात पर इस रविवार को उत्तराखंड राज्य के बागेश्वर जनपद की प्रशंसा की गयी। पीएम मोदी ने जनपद बागेश्वर के किसानों की मिशाल दी। उन्होंने कहा कि बागेश्वर के किसानों सामूहिक प्रयास … अधिक पढ़े……

अब पर्वतीय जिलों में पटवारी नहीं संभालेंगे कानून व्यवस्था

अब हाईकोर्ट के आदेश के बाद उत्तराखंड के लगभग बारह हजार गांवों में अंग्रेजों के बनाये कानून को दरकिनार करते हुये पर्वतीय जिलों में सभी जगह पुलिस थानों खोले जायेंगे। दरअसल, अंग्रेजी हुकूमत के दौरान वर्ष 1816 में कुमाऊं के … अधिक पढ़े……